Tu Jo Daya Jara Si Karde Sar Pe Haath Mere Maa Dhar De तू जो दया ज़रा सी करदे सर पे हाथ मेरे माँ धर दे

Estimated read time 2 min read

तू जो दया ज़रा सी करदे,
सर पे हाथ मेरे माँ धर दे।

श्लोक

तेरे दरबार का पाने नज़ारा,
मैं भी आया हू,
ज़रा देदो माँ चरणों मे सहारा,
मैं भी आया हूँ,
सुना है दर पे तेरे इस जहाँ की,
हर खुशी मिलती,
जगा दो सोई किस्मत का सितारा,
मैं भी आया हूँ।

Tu jo daya jara si karde,
Sar pe haath mere Maa dhar de |

Shlok

Tere darbar ka paane nazara,
Main bhi aaya hu,
Zara dedo Maa charano mein sahara,
Main bhi aaya hu,
Suna hai dar pe tere is jahan ki,
Har khushi milti,
Jaga do soi kismat ka sitara,
Main bhi aaya hu |

तू जो दया ज़रा सी करदे,
सर पे हाथ मेरे माँ धर दे,
हो जाये दुखड़े दूर,
कट जाये हर एक विपदा मेरी,
मैं खड़ा द्वारे पे पल पल,
करू मैं विनती तेरी,
माँ मैं खड़ा द्वारे पे पल पल,
करू मैं विनती तेरी।।

Tu jo daya jara si karde,
Sar pe haath mere Maa dhar de,
Ho jaaye dukhde door,
Kat jaaye har ek vipada meri,
Main khada dware pe pal pal,
Karoon main vinati teri,
Maa main khada dware pe pal pal,
Karoon main vinati teri ||

तेरी किरपा हो जाये,
बिगड़े काम बने सब मैया,
मैं रब को ना मानु,
मेरे लिए तू ही रब मैया,
तेरी ज्योत जगे दिन रात,
दुनिया माने शक्ति तेरी,
मैं खड़ा द्वारे पे पल पल,
करू मैं विनती तेरी।।

Teri kirpa ho jaaye,
Bigde kaam bane sab Maiya,
Main Rab ko na manu,
Mere liye tu hi Rab Maiya,
Teri jyot jage din raat,
Duniya maane shakti teri,
Main khada dware pe pal pal,
Karoon main vinati teri ||

Tu Jo Daya Jara Si Karde, Sar Pe Haath Mere Maa Dhar De

कहते है तेरे दिल में,
नदिया ममता की है बहती,
करे प्यार दुलार बड़ा,
तू भक्तो के अंग संग रहती,
तेरी दया का अंत नहीं,
करदे दूर मुसीबत मेरी,
मैं खड़ा द्वारे पे पल पल,
करू मैं विनती तेरी।।

Kahte hai tere dil mein,
Nadiya mamta ki hai bahti,
Kare pyaar dhulaar bada,
Tu bhakto ke ang sang rahti,
Teri daya ka ant nahi,
Kar de door museebat meri,
Main khada dware pe pal pal,
Karoon main vinati teri ||

मूरख अज्ञानी हूँ,
मुझको ज्ञान नहीं है कोई,
तेरी महिमा क्या जानूं,
पूजा ध्यान नहीं है कोई,
गर खोल दे अंखिया तू,
फिर तो खुल जाए किस्मत मेरी,
मैं खड़ा द्वारे पे पल पल,
करू मैं विनती तेरी।।

Moorakh agyaani hu,
Mujhko gyan nahi hai koi,
Teri mahima kya jaanu,
Pooja dhyaan nahi hai koi,
Gar khol de ankhiya tu,
Phir toh khul jaaye kismat meri,
Main khada dware pe pal pal,
Karoon main vinati teri ||

जग जननी ऐ माता,
ज्योतो वाली शेरो वाली,
तू चाहे तो भर दे पल में,
भक्त की खाली झोली,
कहे फिर तू भवरों में,
मैया फसी है नैया मेरी,
मैं खड़ा द्वारे पे पल पल,
करू मैं विनती तेरी।।

Jag Janani Ai Maa,
Jyoto wali Sherowali,
Tu chahe toh bhar de pal mein,
Bhakt ki khali jholi,
Kahe fir tu bhavaron mein,
Maiya fasi hai naiya meri,
Main khada dware pe pal pal,
Karoon main vinati teri ||

तू जो दया ज़रा सी करदे,
सर पे हाथ मेरे माँ धर दे,
हो जाये दुखड़े दूर,
कट जाये हर एक विपदा मेरी,
मैं खड़ा द्वारे पे पल पल,
करू मैं विनती तेरी,
माँ मैं खड़ा द्वारे पे पल पल,
करू मैं विनती तेरी।।

Tu jo daya jara si karde,
Sar pe haath mere Maa dhar de,
Ho jaaye dukhde door,
Kat jaaye har ek vipada meri,
Main khada dware pe pal pal,
Karoon main vinati teri,
Maa main khada dware pe pal pal,
Karoon main vinati teri ||

Read More : तेरा भवन सजा जिन फूलों से || तेरी दया के किस्से दुनिया को मैं सुनाऊ

🙏 Mata Ji ke Bhajan Lyrica’s 🙏

रोजाना अपडेट के लिए व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन करें

HTML tutorial

You May Also Like

More From Author

+ There are no comments

Add yours