Tere Jaisa Ram Bhakt Lyrics तेरे जैसा राम भगत कोई हुआ ना होगा मतवाला

Estimated read time 2 min read

tere jaisa ram bhakt lyrics : तेरे जैसा राम भगत कोई हुआ ना होगा मतवाला | Hanuman Ji Ke Bhajan Lyrics Hindi And English | Suno Dekho Jai Shree Ram, Tere Jaisa Ram Bhakt Lyrics

Tere jaisa ram bhakt lyrics

तेरे जैसा राम भगत,
कोई हुआ ना होगा मतवाला,
एक जरा सी बात की खातिर,
सीना फाड़ दिखा डाला।।
तर्ज – क्या मिलिए ऐसे लोगो।

tere jaisa ram bhagat
koi hua na hoga matwala
ek jra si baat ki khatir
sina fad dikha dala | |
tarj – kya miliye aise logon |

आज अवध की शोभी लगती,
स्वर्ग लोक से भी प्यारी,
चौदह वर्षों बाद राम के,
राज तिलक की तैयारी,
हनुमत के दिल की मत पूछो,
झूम रहा है मतवाला,
एक जरा सी बात की खातिर,
सीना फाड़ दिखा डाला।।

aaj avadh ki shobhi lagti
swarg lok se bhi pyari
choda varsh baad ram ke
raj tilak ki taiyari
hanumat ke dil ki mat puchho
jhum raha hai matwala
ek jra si baat ki khatir
sina fad dikha dala | |

रतन जड़ित हीरो का हार जब,
लंकापति ने नज़र किया,
राम ने सोचा आभूषण है,
सीता जी की ओर किया,
सीता ने हनुमत को दे दिया,
इसे पहन मेरे लाला,
एक जरा सी बात की खातिर,
सीना फाड़ दिखा डाला।।

ratan jadit hori ka har jab
lankapati ne najar kiya
ram ne socha abhushan hai
sita ji ki or kiya
sita ne hanumat ko de diya
ese pahan mere lal
ek jra si baat ki khatir
sina fad dikha dala | |

हार हाथ में लेकर हनुमत,
घुमा फिरा कर देख रहे,
नहीं समझ में जब आया तब,
तोड़ तोड़ कर फेंक रहे,
लंकापति मन में पछताया,
पड़ा है बंदर से पाला,
एक जरा सी बात की खातिर,
सीना फाड़ दिखा डाला।।

haar hath mein lekar hanumat
ghuma fira ke dekh rahe
nahi samajh mein aaya tab
tod tod ke fenk rahe
lankapati maan main pachtaya
pda hai bandar se pala
ek jra si baat ki khatir
sina fad dikha dala | |

लंकापति का धीरज छूटा,
क्रोध की भड़क उठी ज्वाला,
भरी सभा में बोल उठा क्या,
पागल हो अंजनी लाला,
अरे हार कीमती तोड़ दिया,
क्या पेड़ का फल है समझ डाला,
एक जरा सी बात की खातिर,
सीना फाड़ दिखा डाला।।

lankapati ka dhiraj chhuta
krodh ki bhadak uthi jwala
bhari sabha mein bol utha kya
pagal ho anjani lal
are har kimti tod diya
kya ped ka phal hai samajh dala
ek jra si baat ki khatir
sina fad dikha dala | |

हाथ जोड़ कर हनुमत बोले,
मुझे है क्या कीमत से काम,
मेरे काम की चीज वही है,
जिस में बसते सीता राम,
राम नज़र ना आया इसमें,
यूँ बोले बजरंग बाला,
एक जरा सी बात की खातिर,
सीना फाड़ दिखा डाला।।

hath jod kar hanumat bole
mujhe hai kya kimat se kaam
mere kaam ki chij wahi hai
jis mein baste sita ram
ram nazar aaya isme
yu bole bajrang bala
ek jra si baat ki khatir
sina fad dikha dala | |

इतनी बात सुनी हनुमत की,
बोल उठा लंका वाला,
तेरे में क्या राम बसा है,
सभा बिच में कह डाला,
चीर के सीना हनुमत ने,
सियाराम का दरश करा डाला,
एक जरा सी बात की खातिर,
सीना फाड़ दिखा डाला।।

itni baat suni hanumat ki
bol utha lanka wala
tere mein kya ram basa hai
sabha bich mein kah dala
chir ke seena hanumat ne
siyaram ka darshan kar dala
ek jra si baat ki khatir
sina fad dikha dala | |

तेरे जैसा राम भगत,
कोई हुआ ना होगा मतवाला,
एक जरा सी बात की खातिर,
सीना फाड़ दिखा डाला।।
स्वर – लखबीर सिंह जी लख्खा।

tere jaisa ram bhagat
koi hua na hoga matwala
ek jra si baat ki khatir
sina fad dikha dala | |
sawar – lakhbir singh ji lakha |

Read More : देर ना हो जाये हनुमान जी भजन ||  जय हो जय हो तुम्हारी जी बजरंगबली

🙏 Hanuman Ji Ke Bhajan Krishan bhajan 🙏

रोजाना अपडेट के लिए व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन करें

HTML tutorial

You May Also Like

More From Author

+ There are no comments

Add yours