Salasar Balaji Bhajan | सालासर में बाबा का जो दरबार ना होता भजन

Estimated read time 1 min read

Salasar Balaji Bhajan | सालासर में बाबा का जो दरबार ना होता भजन बोल | सालासर का दरबार | Salasar Ka Darbar | बालाजी / हनुमान भजन | स्वर – विकास बागड़ी | Audio Lyrics

सालासर में बाबा का जो दरबार ना होता भजन लिरिक्स (Salasar Balaji Bhajan Lyrics In Hindi)

सालासर में बाबा का जो
दरबार ना होता
हम भक्तों का फिर बेड़ा
कभी भी पार ना होता।।1

सालासर में भक्तों की,
आशाएं कौन उगाता,
मेहंदीपुर में कष्टों का,
फिर साया कौन भगाता,
दुख ही दुख होता,
दुख ही दुख होता,
सुख का कोई आधार ना होता,
हम भक्तों का फिर बेड़ा,
कभी भी पार ना होता।।2

मिलती ना कोई मंजिल,
सब रहते बीच डगर में,
तूफानों में कोई नईया,
फसती है जैसे भंवर में
वो नईया डूबे जिसका,
वो नईया डूबे जिसका,
खेवनहार ना होता,
हम भक्तों का फिर बेड़ा,
कभी भी पार ना होता।।3

सब करते रहते निंदा,
आपस में एक दूजे की,
और कोई कभी ना कहता,
के भाई जय बाबा की,
सोनी आपस में सोनी आपस में
किसी का कभी प्यार ना होता,
हम भक्तों का फिर बेड़ा,
कभी भी पार ना होता।।4

सालासर में बाबा का जो,
दरबार ना होता,
हम भक्तों का फिर बेड़ा,
कभी भी पार ना होता।।5 Salasar Balaji Bhajan

सालासर में बाबा का जो दरबार ना होता (Salasar Balaji Bhajan Lyrics In English)

Salasar Balaji Bhajan | सालासर में बाबा का जो दरबार ना होता भजन
Salasar Balaji Bhajan | सालासर में बाबा का जो दरबार ना होता भजन

Salasar mein Baba ka jo,
Darbar na hota,
Hum bhakton ka phir beda,
Kabhi bhi paar na hota।।1

Salasar mein bhakton ki,
Aashayein kaun ugaata,
Mehandipur mein kasthon ka,
Phir saaya kaun bhagaata,
Dukh hi dukh hota,
Dukh hi dukh hota,
Sukh ka koi aadhar na hota,
Hum bhakton ka phir beda,
Kabhi bhi paar na hota।।2

Milti na koi manzil,
Sab rahte beech dagar mein,
Toofanon mein koi naiyya,
Fashti hai jaise bhanvar mein,
Wo naiyya doobe jiska,
Wo naiyya doobe jiska,
Khevnahaar na hota,
Hum bhakton ka phir beda,
Kabhi bhi paar na hota।।3

Sab karte rahte ninda,
Aapas mein ek duje ki,
Aur koi kabhi na kehta,
Ke bhai, Jai Baba ki,
Soni aapas mein, Soni aapas mein,
Kisi ka kabhi pyaar na hota,
Hum bhakton ka phir beda,
Kabhi bhi paar na hota।।4

Salasar mein Baba ka jo,
Darbar na hota,
Hum bhakton ka phir beda,
Kabhi bhi paar na hota।।5

रोजाना अपडेट के लिए व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन करें

HTML tutorial

You May Also Like

More From Author