Navratri 2023 ke 9 prasad : नवरात्रि के 9 दिनों में मनाएं खास भोग, हर देवी को प्रसन्न करें के लिए इसे पढ़ें

Estimated read time 3 min read

Navratri 2023 : नवरात्रि के 9 दिनों में मनाएं खास भोग, हर देवी को प्रसन्न करें के लिए इसे पढ़ें | Navratri day 1 |माता शैलपुत्री, फिर ब्रह्मचारिणी, चंद्रघंटा, कुष्मांडा, स्कंद माता, कात्यायनी, कालरात्रि, महागौरी, सिद्धिदात्री और फिर दुर्गा प्रतिमा विसर्जन | | Novratri Special || Mata Ke Bhajan Lyrics | Navratri Special Bhajan Lyrics

Navratri 2023 ke 9 prasad

नवरात्रि पर्व पर माता की आराधना के साथ ही व्रत-उपवास और पूजन का विशेष महत्व है। जिस प्रकार नवरात्रि के नौ दिन, मां दुर्गा के अलग-अलग रूपों की पूजा की जाती है, उसी प्रकार इस 9 दिनों में माता को प्रत्येक दिन 9 विशेष भोग या प्रसाद अर्पित करने से देवी मां सभी प्रकार की समस्याओं का नाश करती हैं।

जानिए माता रानी को दिन के अनुसार भोग लगाने पर क्या लाभ मिलता है और कौन-सी समस्याएं दूर होती हैं। किस दिन कौन सा प्रसाद चढ़ाकर प्रसन्न करें देवी मां को –

1 नवरात्रि का पहला दिन यानि मां शैलपुत्री का दिन। इस दिन देवी मां के चरणों में गाय का शुद्ध घी अर्पित करने से आरोग्य का आशीर्वाद मिलता है। तथा सभी व्याधि‍यां दूर होकर शरीर निरोगी रहता है।

2 नवरात्रि का दूसरा दिन मां ब्रह्मचारिणी का होता है। इस दिन देवी मां को शक्कर का भोग लगाने से वे प्रसन्न होती हैं। इस भोग को देवी के चरणों में अर्पित करने के बाद परिवार के सदस्यों में बांटने से सभी की आयु में वृद्ध‍ि होती है।

3 नवदुर्गा का एक रूप है चंद्रघंटा। मां के इस रूप का पूजन नवरात्रि के तीसरे दिन होता है। इस दिन मां को दूध या दूध से बनी मिठाई खीर का भोग लगाकर ब्राह्मणों को दान करना शुभ होता है। इससे दुखों की मुक्ति होकर परम आनंद की प्राप्ति होती है।

4 मां दुर्गा को नवरात्रि के चौथे दिन मालपुए का भोग लगाने से वे प्रसन्न होती हैं। इस भोग को मंदिर के ब्राह्मण को दान करना चाहिए। ऐसा करने से बुद्धि का विकास होने के साथ-साथ निर्णय शक्ति बढ़ती है।

5 नवरात्रि का पांचवा दिन यानि मां स्कंदमाता का दिन। इस दिन माता जी को केले का नैवेद्य चढ़ाना बहुत उत्तम होता है। ऐसा करने से आपको उत्तम स्वास्थ्य और निरोगी काया की प्राप्ति होती है।

6 नवरात्रि के छठवें दिन देवी मां को शहद का भोग लगाना बहुत अच्छा माना जाता है। इस दिन शहद का भोग लगाने से मनुष्य की आकर्षण शक्ति में वृद्धि होती है।

7 नवरात्रि का सप्तम दिन देवी मां को गुड़ का भोग लगाएं। सातवें नवरात्रि पर मां को गुड़ का नैवेद्य चढ़ाने व उसे ब्राह्मण को दान करने से शोक से मुक्ति मिलती है एवं आकस्मिक आने वाले संकटों से रक्षा भी होती है।

8 नवरात्रि के आठवें दिन माता रानी को नारियल का भोग लगाएं और नारियल का दान भी करें। इससे संतान संबंधी सभी परेशानियों से छुटकारा मिलता है और देवी मां की कृपा प्राप्त होती है।

9 नवरात्रि के अंति‍म दिन यानि नवमी तिथि के दिन तिल का भोग लगाकर ब्राह्मण को दान दें। इससे मृत्यु भय से राहत मिलती है, साथ ही अनहोनी होने की घटनाओं से बचाव भी होगा।

Navratri 2023 ke 9 prasad in English

Navratri 2023 ke 9 prasad
Navratri 2023 ke 9 prasad

Fasting, ritualistic devotion, and reverence for the heavenly Mother are all extremely important during the Navaratri festival. Similar to how the nine-day Navaratri festival dedicates several manifestations of Goddess Durga, these nine days are marked by daily offerings to the Mother known as prasad. Devi Ma eliminates all kind of problems and adversities with this procedure.

Based on the day of the week, let’s examine the advantages of giving prasad to the Goddess on each Navaratri day:

Navratri day 1.

Ma Shailputri is honored on the first day of Navaratri. Devi Ma bestows the boon of good health when one offers pure ghee from a cow to her feet. All ills are cured, and one is left in excellent health.

Navratri day 2.

Ma Brahmacharini owns the second day of Navaratri. The offering of sugar on this day makes the Goddess happy. The longevity of family members increases when this prasad is given to them.

Navratri day 3

Chandraghanta, a form of Goddess Durga, is honored on the third day of Navaratri. It is considered lucky to give milk or kheer (a sweet dish prepared from milk) to the Goddess and give the rest to Brahmins. One is set free from sorrows by doing this, which results in ultimate bliss.

Navratri day 4.

Ma Durga is pleased with the offering of malpua (a sweet treat) on the fourth day of Navaratri. This prasad should be given to Brahmins at the temple, according to tradition. This exercise increases one’s capacity for decision-making in addition to their academic prowess.

Navratri day 5.

On the fifth day of Navaratri, Ma Skandamata is honored. On this day, offering bananas as prasad is very lucky. A disease-free physique and high health are the outcomes of this action.

Navratri day 6.

Offering honey to Devi Ma on the sixth day of Navaratri is regarded as being very advantageous. One’s magnetic aura and attractiveness are strengthened by this technique.

Navratri day 7.

The goddess Kalratri is honored on the seventh day of Navaratri. Offering jaggery as prasad and giving it to Brahmins ensures their protection against unforeseen hardships and release from sadness.

Navratri day 8.

Giving coconuts to Brahmins on the eighth day of Navaratri is seen to be auspicious. This action attracts Devi Ma’s blessings and allays any problems with progeny.

Navratri day 9.

Sesame seeds are traditionally offered and given to Brahmins on the ninth day of Navaratri, which is the closing day of the festival. This exercise eases the fear of dying and offers defense against unplanned disasters.

🙏 Mata Ji ke Bhajan Lyrica’s 🙏

रोजाना अपडेट के लिए व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन करें

HTML tutorial

You May Also Like

More From Author

+ There are no comments

Add yours