Dar Dar Bhatakta Fira Thokar Badi Khaya Hun दर दर भटकता फिरा ठोकर बड़ी खाया हूँ

Estimated read time 2 min read

दर दर भटकता फिरा,
ठोकर बड़ी खाया हूँ।

दोहा – रूतबा ये मेरे सर को,
तेरे दर से मिला है,
हालाकी मेरा सर भी,
तेरे दर से मिला है,
औरों को जो मिला है माँ,
वो मुकद्दर से मिला है,
पर मुझे तो मेरा मुकद्दर भी,
तेरे दर से मिला है।

dar dar bhatakta fira
thokar badi khaya hu |

doha – rutba ye mere sar ko
tere dar se mila hai
or ko jo mila hai maa
wo mukaddar se mila hai
par mujhe to mera mukaddar bhi
tere dar se mila hai |

दर दर भटकता फिरा,
ठोकर बड़ी खाया हूँ,
दर्शन के लिए मैया,
मैं तेरे द्वारे आया हूँ।।
तर्ज – जीता था जिसके लिए।

dar dar bhatakta fira
thokar badi khaya hu
darshan ke liye maiya
mein tere dware aaya hun | |
tarj – jita tha jiske liye |

जग ने सताया,
जहां ने रुलाया,
तुम मेरा संकट हरो-२,
दर से सवाली,
ना जायेगा खाली,
तुम मेरी झोली भरो-२,
है नहीं कोई जग में,
हमारा तुम्हारे सिवा,
दर्शन के लिए मैया,
मैं तेरे द्वारे आया हूँ।।

jag ne sataya
jahan ne rulaya
tum mere sankat haro
dar se sawali
na jayega khali
tum meri jholi bharo
hai nahi koi jag mein
hamare tumhare siwa
darshan ke liye maiya
mein tere dware aaya hun | |

जब जब पुकारा,
दे दिया सहारा,
फरियाद मेरी पढ़ी-२,
चली आओ मैया,
भवर देख कर के,
मेरी नाव तूफां फसी-२,
लगन मेरी तुमसे लगी है,
ये मैय्या सुनो,
दर्शन के लिए मैया,
मैं तेरे द्वारे आया हूँ।।

jab jab pukara
de diya sahara
fariyad meri padi
chali aao maiya
bhanwar dekh kar ke
meri nav tufan fasi
lagan meri tumse lagi hai
ye maiya suni
darshan ke liye maiya
mein tere dware aaya hun | |

Dar Dar Bhatakta Fira Thokar Badi Khaya Hun

तेरे चरण में,
रहूँगा हमेशा,
सुनलो ये अर्जी मेरी-२,
दर का भिखारी,
रखो या उठा दो,
आगे है मर्जी तेरी-२,
नहीं तो आज चौखट पे तेरी,
मैं मर जाऊंगा,
दर्शन के लिए मैया,
मैं तेरे द्वारे आया हूँ।।

tere charan mein
rahunga hamesha
sunlo ye aarji meri
dar ka bhikhari
rakho ya utha do
aage hai marji teri
nahi to aaj chokhat pe teri
me mar jaunga
darshan ke liye maiya
mein tere dware aaya hun | |

तुम ना करोगी,
तो करम कौन करेगा,
दामन है मेरा खाली,
इसे कौन भरेगा,
ठुकरा दिया है जग ने,
मुझे तेरा सहारा,
आ जाओ मेरी मैय्या,
मैने तुमको पुकारा,
मैंने तुमको पुकारा,
दर्शन के लिए मैया,
मैं तेरे द्वारे आया हूँ।।

tum na karogi
to karm kon karega
daman hai meri khali
ise kon bharega
thukara diya hai jag ne
mujhe tera sahara
aa jao meri maiya
mene tumko pukara hai
mene tumko pukara hai
darshan ke liye maiya
mein tere dware aaya hun | |

पूजा ना जानु,
सेवा ना जानु,
कैसे मनाऊं तुम्हे-२,
प्रेमी दीवाना,
हुआ आज पागल,
कैसे बताऊं तुम्हे-२,
विजय आज करना,
यही है मेरी आरज़ू,
दर्शन के लिए मैया,
मैं तेरे द्वारे आया हूँ।।

puja na janu
sewa na janu
kese mnau tumhe
premi diwana
huaa aaj pagal
kese bulau tumhe
vijay aaj karna
yahi hai araji
darshan ke liye maiya
mein tere dware aaya hun | |

दर दर भटकता फिरा,
ठोकर बड़ी खाया हूँ,
दर्शन के लिए मैया,
मैं तेरे द्वारे आया हूँ।।

dar dar bhatakta fira
thokar badi khaya hu
darshan ke liye maiya
mein tere dware aaya hun | |

Singer – Chhappan Indori

read more : आप पधारो कुलदेवी मोटी मावड़ी जी | मैया रानी के भवन में हम दीवाने हो गए

👆

🙏 mata ji ke bhajan 🙏

रोजाना अपडेट के लिए व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन करें

HTML tutorial

You May Also Like

More From Author

+ There are no comments

Add yours